फिल्मी शिक्षक : कितने असली, कितने नकली, गुरु बिन ज्ञान कहां से पाऊं

-दिनेश ठाकुरकई साल पहले टीवी पर एक इश्तिहार आता था। इसमें स्कूल शिक्षक बने चरित्र अभिनेता टी.पी. जैन क्लास में एक छात्र से कहते हैं- ‘अरे राजू, तुम्हारे दांत तो मोतियों की तरह चमक रहे हैं।’ राजू शान से बताता है- ‘क्यों न हो मास्टरजी, मैं फलां कंपनी का दंत …

Read moreफिल्मी शिक्षक : कितने असली, कितने नकली, गुरु बिन ज्ञान कहां से पाऊं